कुँआरों के नाम खुले खत

Price :  75

डॉ विजय अग्रवाल

Book Description

दहेज शादी के नाम पर किया जाने वाला महज एक सौदा भर नहीं है। यह धधकती हुई एक ऐसी आँच है, जिसकी गिरफ्त में आकर न केवल लड़की ही, बल्कि लड़का भी झुलसता है। यह छोटी सी, किन्तु बहुत दमदार किताब इसी झुलसन की करुण और सच्ची कथा कहती है।